वर्णमाला K और L का महत्व और अर्थ

आखरी अपडेट: 21 जनवरी, 2023, 00:15 IST

न्यूमेरोलॉजी टुडे, 21 जनवरी: जिस व्यक्ति का नाम K से शुरू होता है वह स्वभाव से निराशावादी होता है और उसे रचनात्मक होना सीखना चाहिए क्योंकि निराशावाद उन्हें असफलता के साथ छोड़ देगा।  (प्रतिनिधि छवि: शटरस्टॉक)

न्यूमेरोलॉजी टुडे, 21 जनवरी: जिस व्यक्ति का नाम K से शुरू होता है वह स्वभाव से निराशावादी होता है और उसे रचनात्मक होना सीखना चाहिए क्योंकि निराशावाद उन्हें असफलता के साथ छोड़ देगा। (प्रतिनिधि छवि: शटरस्टॉक)

अंकज्योतिष आज, 21 जनवरी: अक्षरों का अंकशास्त्रीय महत्व सुनहरे भाग्य के द्वार खोलने के लिए जन्म तिथि के अनुरूप वर्णमाला चुनने की सुविधा प्रदान करता है।

वर्णमाला के

जिन लोगों का नाम इस अक्षर से शुरू होता है उन्हें जीवन में बाधाओं का सामना करना पड़ता है। इनके भाग्य में भी काफी बदलाव देखने को मिलते हैं। वे समृद्ध और खुश हो सकते हैं और अगले ही पल उन्हें दुख का सामना करना पड़ सकता है। वे स्वभाव से निराशावादी होते हैं और उन्हें यह सीखने की आवश्यकता होती है कि कैसे रचनात्मक होना चाहिए क्योंकि निराशावाद उन्हें असफलता के साथ छोड़ देगा।

उनके पास चीजों के अंधेरे पक्ष को देखने की एक सहज शक्ति है जो उन्हें बहुत नकारात्मकता के साथ जीवन जीने के लिए प्रेरित करती है, वे सतर्क, सावधान, नैतिक, ईमानदार और सहनशील होते हैं। उन्हें अपनी छठी इंद्री को जगाना चाहिए क्योंकि इससे उन्हें करियर में नई ऊंचाइयों को छूने में मदद मिलेगी। इन्हें अपने जीवनसाथी का सहयोग तो मिलता है लेकिन पहचान नहीं पाती इसलिए इन्हें अपने परिवार वालों की सराहना करते रहना चाहिए।

  1. अपने घर की उत्तर दीवार में पानी का फव्वारा रखें।
  2. अपने बैग में हमेशा गोल आकार का चांदी का सिक्का रखें।
  3. सफेद व हल्के रंग के वस्त्र धारण करें।
  4. मवेशियों या गरीबों को दूध का दान करें।
  5. मांसाहारी भोजन, शराब, तंबाकू और चमड़े से परहेज करें।

वर्णमाला एल

जिन लोगों के नाम इस अक्षर से शुरू होते हैं वे संवेदनशील और दार्शनिक होते हैं। वे एक प्रकार के दर्शन का पालन करते हैं और उन्हीं सिद्धांतों के अनुसार अपना जीवन व्यतीत करते हैं। वे नेक विचार रखते हैं। वे परिपक्व और परिष्कृत हैं। उनके विचार शुद्ध और शांत, संयमित और स्वयं में डूबे हुए हैं।

इन पर बृहस्पति ग्रह का प्रबल सकारात्मक प्रभाव होता है। उन्हें सुबह गुरु मंत्र का जाप करना याद रखना चाहिए। कुमकुम पहनने से जादू होता है। वे सर्वश्रेष्ठ शिक्षाविद्, प्रशिक्षक, परामर्शदाता, दार्शनिक, लेखक, निर्देशक हो सकते हैं। संस्थाएं, स्कूल, कॉलेज, प्रशिक्षण गृह, ज्योतिष, वास्तु, किताबें, खेल कोचिंग और कोचिंग क्लासेस अपने नाम की शुरुआत करने के लिए इस अक्षर का चयन कर सकते हैं।

दान देना: आश्रमों में पीली मसूर।

शुभ रंग : नारंगी और पीला।

सभी पढ़ें ताज़ा खबर यहां

https://rajanews.in/category/breaking-news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *