ग्रिश्मा वेकारिया हत्याकांड: सूरत का आदमी जिसने अपनी अग्रिम दी गई मौत की सजा को खारिज करने के लिए महिला की हत्या कर दी

सूरत की एक अदालत ने उस व्यक्ति को मौत की सजा सुनाई है जिसने एक महिला की हत्या करने के लिए उसकी अग्रिमों को खारिज कर दिया था। हत्या के 70 दिनों के भीतर सजा सुनाई गई थी।

हत्या प्रतिनिधि

सूरत की एक अदालत ने उस व्यक्ति को मौत की सजा सुनाई है जिसने एक महिला की हत्या करने के लिए उसकी अग्रिमों को खारिज कर दिया था।

सूरत की एक अदालत ने फेनिल गोयानी को मौत की सजा सुनाई है, जिसने एक 21 वर्षीय महिला की हत्या करने से इनकार करने के लिए उसका गला काटकर हत्या कर दी थी। मामलों ने बड़े पैमाने पर आक्रोश पैदा किया, और राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति के बारे में सवाल उठाए गए।

10 दिनों के भीतर मामले में 2500 पन्नों की चार्जशीट दायर की गई और 70 दिनों में दोषी को मौत की सजा दी गई।

पढ़ना: गुजरात एटीएस ने सौराष्ट्र में अवैध हथियार रखने के आरोप में 20 लोगों को किया गिरफ्तार

हत्या इस साल 12 फरवरी को सूरत के पसोदरा में हुई थी जब फेनिल ने अपने परिवार के सामने ग्रिश्मा का गला काट दिया था। ग्रिश्मा के भाई और चाचा पर भी फेनिल ने हमला किया जब उन्होंने उसे बचाने की कोशिश की। कई बार अग्रिमों से इनकार करने के बाद उसने उसकी हत्या करने की योजना बनाई थी।

राज्य में विपक्षी दलों ने कानून व्यवस्था की चिंताओं को उजागर करने के लिए यह मुद्दा उठाया।

10 दिन से भी कम समय में पुलिस ने मामले में चार्जशीट दाखिल कर दी।

पढ़ना: यूपी के गाजीपुर में दहेज को लेकर आदमी ने अपनी मां के सामने पत्नी की हत्या कर दी

ग्रिश्मा की हत्या के बाद फेनिल ने खुद को भी मारने की कोशिश की। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया और छुट्टी के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। हत्या से पहले, फेनिल ग्रिश्मा को परेशान कर रहा था और उसके परिवार ने उसे उससे दूर रहने के लिए कहा था।

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष सांघवी ने ग्रिशमा के परिवार से संपर्क किया और उन्हें आश्वासन दिया कि उन्हें न्याय मिलेगा।

https://rajanews.in/category/breaking-news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *